पलामू का सुआ कौड़िया गांव… जहां 20 दिनों में हुई 22 लोगों की मौत…

Share

पलामू के मेदिनीनगर से महज 8 से 10 किलोमीटर की दूरी पर सुआ कौड़िया गांव है। इस गांव में कोरोना जैसे लक्षण से 20 दिनों में 22 लोगों की मौत हो चुकी है। लगातार हो रही मौत से गांव वाले खौफ में हैं। इतने लोगों के मौत के बावजूद गांव वाले कोविड जांच के लिए आगे नहीं आ रहे हैं। कहा जा रहा है कि इन 22 लोगों की मौत में सिर्फ 6 लोगों ने ही कोविड कि जांच कराई थी। इन सभी की मौत सर्दी बुखार के लक्षण के बाद हुई है। मरने वाले लोगों मे 20 से 50 वर्ष तक के उम्र के लोग शामिल हैं. लगातार हुई मौत के बाद ग्रामीण दहशत में हैं।

सुआ कौड़िया में हो रही लगातार मौत से ग्रामीण दहशत में हैं। इन सबकी मौत 25 अप्रैल से 15 मई के बीच मे हुई हैं। गांव के लोग दहशत में इतने थे कि वह अंतिम संस्कार में भी नहीं शामिल हो रहे थे। लोगो का कहना हे कि इन लोगों को सर्दी बुखार का मामूली लक्षण था। जिन लोगों की मरने की उम्र नहीं थी उनकी भी मौत हुई। स्वास्थ्य विभाग को चाहिए कि गांव में कैंप लगाकर सभी की जांच की जाए। गांव में कितने लोग कोविड-19 संक्रमित हैं यह कहना मुश्किल है। अगले दो दिनों में गांव में कैंप लग रहा है जिसके बाद पता चल पाएगा कितने लोग संक्रमित हैं। इस बारे में डीसी शशि रंजन ने बताया कि सभी गांव में सर्वे शुरू हुआ है। लक्षण वाले सभी लोगों की कोविड-19 की जांच होगी। डीसी ने सभी ग्रामीणों से अपील की है कि लक्षण के बाद वो जांच करवाएं ताकि उन्हें दवाइयां और अन्य राहत पहुंचाई जा सके। उन्होंने बताया कि सर्वे के माध्यम से सभी ग्रामीणों के स्वास्थ्य पर निगरानी रखी जाएगी।

1 2 3 116
Facebook Comments Box