राज्यसभा चुनाव केस में एक्शन के मूड में पुलिस… 5 जून को होगी अगली सुनवाई

Share

राज्यसभा चुनाव 2016 के दौरान हॉर्स ट्रेडिंग के मामले में आरोपों से घिरे भाजपा नेता रघुबर दास के खिलाफ पुलिस ने एक्शन लेने की कवायद शुरू कर दी है। एडीजी अनुराग गुप्ता और पूर्व सीएम रघुवर दास के तत्कालीन प्रेस सलाहकार अजय कुमार के खिलाफ पीसी की धारा जोड़ने को लेकर दायर आवेदन पर बुधवार को सिविल कोर्ट में सुनवाई हुई। मामले की सुनवाई कर रहे न्यायिक दंडाधिकारी अनुज कुमार की कोर्ट से एपीपी जया टोप्पो ने समय की मांग की। अदालत ने उनके आग्रह को स्वीकार करते हुए अब हॉर्स ट्रेडिंग से जुड़े इस केस में पीसी एक्ट की धारा जुड़ेगी या नहीं इसपर पांच जून की तारीख मुकर्रर की है।

5 अप्रैल को सीआईडी एडीजी अनिल पालटा ने केस की समीक्षा की थी। इसमें पाया गया कि आईओ को अवर सचिव ने चुनाव आयोग के पत्र मुहैया कराए थे। इसमें पीसी एक्ट के तहत कार्यवाई का आदेश था। एडीजी ने एसएसपी को केस में पीसी एक्ट जोड़ने को कहा था। इसके बाद एसएसपी ने गृह विभाग से इसकी अनुमति मांगी थी। इसके लिए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सरकार ने मंजूरी दे दी है। बता दें 2016 में इस मामले में विवाद तब पैदा हुआ था, जब राज्य सभा के द्वैवार्षिक चुनाव के समय भाजपा के उम्मीदवार के रूप में मुख्तार अब्बास नकवी और महेश पोद्दार झारखंड से राज्यसभा पहुंचने में कामयाब हुए थे। भाजपा के दूसरे उम्मीदवार यानी पोद्दार के चुनाव पर सबको हैरत हुई थी क्योंकि इसके लिए पार्टी के पास पर्याप्त वोट नहीं थे। गौरतलब है कि इस मामले में नया मोड़ तब आया जब गृह विभाग ने रघुबर दास के खिलाफ पुलिस को करप्शन केस के लिए मंज़ूरी दी, जबकि मामले की एफआईआर में दास का नाम नहीं था। अगर ये आरोप कोर्ट में साबित होते हैं तो कम से कम एक साल और ज़्यादा से ज़्यादा 7 साल कैद की सज़ा हो सकती है।

1 2 3 74

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction