पुलिस ने सांसद निशिकांत दुबे के नाम का शिलापट्ट उखाड़ा… प्रेस क्लब और फिश मार्केट के उद्घाटन पर विवाद…

Share

देवघर। गुरुवार को राज्य सरकार की अनुमति के बिना कुछ लोगों द्वारा देवघर में नवनिर्मित प्रेस क्लब और हाईजेनिक रिटेल फिश मार्केट का उद्घाटन करने के कार्यक्रम को जिला प्रशासन ने रुकवा दिया। उद्घाटन स्थल पर जो शिलापट्ट लगाया गया था, उसमें उद्घाटनकर्ता के रूप में गोड्डा के सांसद डॉ निशिकांत दुबे का नाम दर्ज था। इस बाबत जानकारी के अनुसार के सुबह 9 बजे प्रेस क्लब व 9:30 बजे हाईजेनिक रिटेल फिश मार्केट का उद्घाटन सांसद द्वारा किए जाने का कार्यक्रम तय था। खराब मौसम होने के बावजूद इस कार्यक्रम को कवर करने की सूचना सांसद समर्थकों द्वारा मीडिया कर्मियों को भी दी गई थी।

मौके पर बड़ी संख्या में लोग पहुंच भी गये थे, लेकिन इसकी सूचना मिलते ही वहां मैजिस्ट्रेट के साथ नगर थाना प्रभारी रतन कुमार सिंह व कुंडा थाना थाना प्रभारी प्रवीण कुमार के साथ बड़ी संख्या में सुरक्षा बल के जवान पहुंचे और दोनों परिसरों को अपने कब्जे में ले लिया। पुलिसकर्मियों ने दोनों भवनों के मुख्य द्वार पर ताला भी लगा दिया और वहां मौजूद लोगों को बाहर कर दिया। पुलिस का कहना था कि एसडीओ का आदेश है। हालांकि इस दौरान सांसद समर्थक व पुलिस के बीच तिखी बहस भी होने की सूचना है। पुलिस के कड़े रुख के बाद मौजूद लोग नास्ता आदि का पैकेट उठाकर वहां से चलते बने। इतना ही नहीं, पुलिस-प्रशासन के लोगों ने दोनों स्थानों पर लगाये गये उद्घाटन के शिलापट्ट को भी उखाड़ दिया गया। पुलिस प्रशासन के उक्त स्थलों पहुंचने से कुछ देर पूर्व सांसद खेमे से दोनों स्थानों उपस्थित समर्थकों को उद्घाटन कार्यक्रम रद्द होने की सूचना मिली। वहीं पुलिस और प्रशासन की इस कार्रवाई के बारे में सांसद निशिकांत दुबे ने इस कार्यक्रम को लेकर अनभिज्ञता जाहिर की है। बता दें कि इन दोनों भवनों का निर्माण कार्य पूर्व की रघुवर दास सरकार के कार्यकाल में शुरू किया गया था। जिसका शिलान्यास सांसद निशिकांत दुबे ने ही किया था। यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि उद्घाटन का शिलापट्ट किन लोगों ने लगाया था। इधर उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री ने कहा है कि इन दोनों भवनों के उद्घाटन का कार्यक्रम सरकार या प्रशासन की ओर से तय नहीं किया गया था, इसलिए इसे रुकवा दिया गया है।वहीं जिला प्रशासन की ओर से दिन भर उनकी गतिविधियों पर नजर रखे जाने की बात भी सामने आ रही है। कहा जा रहा है कि दोनों स्थानों पर संबंधित संवेदक भी सारी तैयारी के साथ मौजूद थे, और वे विभागीय पदाधिकारियों के संपर्क में भी थे। आज घटी इस हाई वोल्टेज राजनीतिक ड्रामा को लेकर लोगों में तरह तरह की चर्चा हो रही है।

1 2 3 157
Facebook Comments Box