8 परिवारों के लिए रांची स्टेशन से आई खुशखबरी…नौकरी ने नाम पर हुआ था छल

Share

झारखंड के 8 परिवारों ने उस वक्त राहत की सांस ली, जब धनबाद एल्लेप्पी एक्सप्रेस गुरुवार को रांची पहुंचा। इस ट्रेन के जरिए तमिलनाडु से 8 प्रवासी लड़कियों को रांची लाया गया। ये लड़कियां पिछले साल दिसबर से ही कोयंबटूर के अवनाशी में कपड़ा मिल में काम कर रही थीं। श्रम विभाग और फिया फाउंडेशन की मदद से उन लड़कियों को रांची लाया गया है। कौशल विकास के नाम पर इन लड़कियों को तमिलनाडु ले जाया गया था। बिना ट्रेनिंग के 15 हजार के वेतन पर नौकरी देने की बात कही गई थी। लेकिन वहां उन्हें हर दिन 8 घंटे काम कराया जाता था बदले में सिर्फ 5 से 6 हजार रुपए महीने ही दिए जाते थे।

लॉकडाउन के दौरान कंपनी 2 महीने से बंद भी हो गई थी। इसके बाद से लड़कियां झारखंड लौटना चाहती थी। लेकन एनी सोर्स नाम की कपनी से जुड़ी एक हिमा नाम की महिला लड़कियों को झारखंड नहीं आने दे रही थी। इसके बाद लड़कियों ने गुमला में अपने परिचित को फोन किया था। इसके बाद प्रवासी कंट्रोल रूम से मदद मांगी गई। फिर झारखंड से कंपनी को चिट्ठी लिखकर लड़कियो को वापस झारखंड भेजने को कहा गया।

1 2 3 109