रांची से 2 लाख की ठगी करने वाले देवघर से गिरफ्तार…

Share

रांची के साइबर क्राइम (Cyber Crime) के मामले में देवघर से दो आरोपियों शमशाद नूरानी और कदम रसूल को गिरफ्तार किया गया है. सीआईडी ने इनके पास से मोबाइल और बैकों के दस्तावेज बरामद किया है. पुलिस के मुताबिक ये आरोपी ओएलएक्स फ्रॉड, ओटीपी फ्रॉड के साथ-साथ मोबाइल हैकिंग के जरिए साइबर फ्रॉड की वारदात को अंजाम देते थे.

साइबर एसपी एस कार्तिक ने कहा कि आरोपियों ने गूगल पर कस्टमर केयर का नंबर दे रखा था. इस वजह से लोग इनके झांसे में आसानी से आ जाते थे. दरअसल रांची के सदर थाना क्षेत्र में रहने वाले सुशील उरांव ने उनके साथ हुए साइबर फ्रॉड को लेकर एफआईआर दर्ज करवाई थी. शिकायत में उन्होंने कहा कि साइबर अपराधियों ने एनीडेस्क एप्लीकेशन डाउनलोड करवा कर उनके खाते की डिटेल ली और फिर उनके खाते से 2 लाख तीन हजार रुपये उड़ा लिये. मामला दर्ज होने के बाद सीआईडी की टीम जांच में जुटी तो पता चला कि सुशील उरांव के खाते से पैसे की निकासी देवघर में की गई है. सीआईडी की टीम ने टेक्निकल मदद से दोनों को देवघर से गिरफ्तार किया. गिरफ्तार आरोपियों ने पुलिस को जो जानकारी दी, उसके अनुसार ये लोग ओएलएक्स, ओटीपी, एनिडेस्क के जरिए साइबर फ्रॉड की घटना को अंजाम देते थे. दर्जनों लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं. सीआईडी इनके गिरोह के अन्य साथियों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है.

1 2 3 157
Facebook Comments Box