रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी को अब रोकेगी सीआईडी… 1.10 लाख में बेच रहा था मंत्रियों और आइपीएस अधिकारियों का करीबी…

Share

रांची थाने में रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करने के मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। यह एफआईआर ड्रग कंट्रोल विभाग की ओर से दर्ज कराई गई है। जिसमें 1.10 लाख में 5 इंजेक्शन की वाइल बेचने वाला आरोपित राजीव कुमार सिंह को नामजद आरोपी बनाया गया है। इस केस को सीआईडी ने टेकओवर कर लिया है.

आपको बता दें कि अब रेमडेसिविर कालाबाजारी मामले की जांच सीआईडी के जिम्मे होगा। डीएसपी अनुदीप सिंह इस मामले के अनुसंधानकर्ता होंगे, जबकि चार दरोगा जांच में मदद करेंगे। इस पूरे जांच प्रक्रिया की मॉनिटरिंग एडीजी अनिल पलटा करेंगे.

बताया जा रहा है कि इस मामले में कोतवाली पुलिस आरोपित राजीव कुमार सिंह को जेल भेजेगी। बताया जा रहा है कि यह राज्य के कुछ मंत्रियों और आइपीएस अधिकारियों का बेहद करीबी है।इस मामले में एक और आरोपित राकेश कुमार को भी हिरासत में लिया गया है। इस मामले में आईपीसी की धारा 420 120 बी, 188, ड्रग एंड कॉस्मेटिक एक्ट डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट की धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।

ड्रग कंट्रोल विभाग के अधिकारियों की ओर से दर्ज कराए गए एफआइआर में बताया गया है कि एक क्षेत्रीय चैनल के द्वारा की गई स्टिंग से रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी की सूचना मिली। इस सूचना के बाद ड्रग कंट्रोल विभाग की टीम कोतवाली थाना पहुंची। जब्ती सूची तैयार करने के बाद टीम कोतवाली थाने पहुंची और एफआईआर दर्ज कराई। सीआईडी की टीम और रांची पुलिस की एक टीम आरोपित राजीव कुमार को लेकर उसके घर पहुंची और पूरे घर को सर्च किया।