रांची में श्मशान घाट निर्धारित शुल्क से ज्यादा मांगने पर होगी कार्रवाई… इस नंबर पर करें शिकायत…

Share

इस  वैश्विक महामारी कोविड-19 में श्मशान घाटों में हो रही अवैध वसूली हो रही है । इस पर रोक लगाने के लिए रांची नगर निगम ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। साथ ही निगम ने लोगों से आग्रह किया है कि अगर श्मशान घाट में कोई भी कर्मी अवैध रूप से पैसे की डिमांड करता है, तो इसकी सूचना नगर निगम को दी जाए। निगम ऐसे लोगों पर कार्रवाई करेगा। 

दरअसल, नगर आयुक्त मुकेश कुमार के निर्देश पर रांची नगर की ओर से जिला प्रशासन से समन्वय स्थापित कर कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के शव के दाह संस्कार के लिए हरमू स्थित गैस आधारित शवदाहगृह में सभी व्यवस्था सुनिश्चित की गई है। यहां, निर्धारित शुल्क प्रति शव 2500 रुपये लिया जाता है, जिसके लिए रशीद दी जाती है. साथ ही घाघरा स्वर्णरेखा घाट पर भी व्यवस्था की गई है। घाघरा स्वर्णरेखा घाट पर कोई शुल्क नहीं है। दोनो ही स्थानों पर सभी विधि विधान से कोरोना दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए समय पर शवों का दाह संस्कार कराया जा रहा है।

श्मशान घाटों में हो रहे वसूली की शिकायत पर मंगलवार को नगर निगम के इंफोर्समेंट अफसरों की टीम ने हरमू मुक्तिधाम, मोक्षधाम व घाघरा घाट की जांच की। जांच के दौरान मुक्तिधाम में अजय नामक एक युवक ऐसा पाया गया, जो शव को वाहन से उतारने के लिए पांच हजार की राशि की मांग कर रहा था। इस युवक को पकड़कर अरगोड़ा थाने को सौंपा गया। घाघरा में शवदाह के लिए आए हुए परिजनों से बातचीत की गई। उनके द्वारा बताया गया कि यहां शवदाह हेतु किसी प्रकार के पैसों की मांग नहीं की जा रही है।

अगर घाघरा स्वर्णरेखा घाट पर किसी प्रकार का कोई शुल्क या हरमू मुक्तिधाम पर निर्धारित शुल्क से अधिक राशि किसी की ओर से मांग की जाती है तो इसकी सूचना निगम के कंट्रोल रूम के नंबर 06512200011 पर दें। अनधिकृत रूप से पैसे की मांग करने वालों पर दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction