कर दें ये लोग राशनकार्ड सरेंडर वर्ना होगी कार्रवाई… हुई 5 कार्डधारियों से 3.5 लाख की वसूली…

Share

रांची में अब एक विशेष टीम घर-घर जाकर राशन कार्डधारियों का सत्यापन करेगी। इतना ही नहीं घरों की संपत्तियों की वीडियो रिकॉर्डिंग भी की जाएगी। साक्ष्य जमा होने के बाद ऐसे लोग जो कार्ड के लिए अयोग्य हैं और कार्ड का लाभ ले रहे हैं, उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जाएगी।

जिला प्रशासन ने इस कार्य के लिए विशेष टीम का भी गठन किया है। यह टीम कभी भी जाकर घर में छापा मार सकती है। जिला प्रशासन पिछले एक साल से संपन्न लोगों से राशन कार्ड सरेंडर करने को कह रहा है। अब तक तीन हजार लोगों ने ही राशन कार्ड सरेंडर किया है। इसके बाद प्रशासन ने संपन्न लोगों को राशन कार्ड सरेंडर करने के लिए  सितंबर में सूचना निकाल 31 अक्तूबर तक का समय दिया था। इस अवधि में सिर्फ पांच लोगों ने ही कार्ड सरेंडर किया। जिला प्रशासन के सर्वे के अनुसार 25 हजार ऐसे लोग हैं, जो योग्यता नहीं रखने के बाद भी राशन कार्ड बनाए हैं। इस कार्य के लिए बीडीओ व सीओ को नोडल पदाधिकारी बनाया गया है। जांच के लिए पंचायत सेवक, जनसेवक-सेविका को लगाया जाएगा। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा नियम एनएफएसए के तहत संपन्न परिवार को किसी प्रकार का कोई कार्ड देय नहीं है। अगर इस योजना के तहत ये कार्ड से लाभ उठा रहे हैं, तब उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। झारखंड सरकार ने इनके लिए सफेद कार्ड की व्यवस्था की है, जिसके तहत फिलहाल इन्हें दो लीटर किरोसीन तेल देय है।

1 2 3 179
Facebook Comments Box