रांची: ई-पास नहीं दिखाने पर हवलदार ने SSP को रोका… मिला 500 रु. का ईनाम

Share

पूरे झारखंड में कोरोना को देखते हुए स्वास्थ्य सप्ताह लागू किया गया है। मेडिकल और गुड्स सेवाओं को छोड़ कर बांकी सभी चीजों के लिए E-Pass अनिवार्य किया गया है। जिले और राज्य की सीमाओं पर सख्ती बरती जा रही है। पुलिस को नियमों का सख्ती से पालन करवाने को कहा गया है। इसी क्रम में रांची एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा (SSP SK Jha) प्राइवेट गाड़ी से सादे कपड़े में इसकी जांच के लिए निकले थे। एसके झा झारखंड-बंगाल की सीमा मुरी में थे। जहां रांची पुलिस के हवलदार जनार्धन मंडल ने उनसे ई पास मांगा। एसके झा ने जब ई पास नहीं दिखाया तो जनार्धन मंडल ने उन्हें आगे जाने से रोक दिया। जनार्धन मंडल की इस मुस्तैदी से SSP SK Jha काफी खुश हुए और उन्होंने ग्रामीण एसपी नौशाद आलम को जनार्धन मंडल पुरस्कृत करने को कहा।

एसएसपी एसके झा के निर्देश पर ग्रामीण एसपी नौशाद आलन ने हवलदार जनार्धन मंडल को 500 रुपए का ईनाम दिया। नौशाद आलम ने बताया कि जिले में बने चेक प्वाइंट पर पुलिसकर्मी कैसा काम कर रहे हैं इसका निरीक्षण करने के लिए एसएसपी और दूसरे अधिकारी निकले थे। हवलदार जनार्धन ने बिना पास के एसएसपी की गाड़ी को रोका, जो तारीफ के काबिल काम है। इसी वजह से उन्हें सम्मानित किया गया। झारखंड में ई पास की नई व्यवस्था 16 मई से लागू की गई है। रांची में ई-पास की चेकिंग के लिए 102 चेकप्वाइंट बनाए गए हैं।

1 2 3 116
Facebook Comments Box