अंतिम संस्कार पर हाई कोर्ट ने दिया निर्देश…

Share

कोरोना संक्रमित मरीजों की लाशों के अंतिम संस्कार को लेकर शनिवार को झारखंड हाई कोर्ट में सुनवाई हुई। इस सुनवाई के दौरान रांची डीसी और रांची नगर निगम के अपर नगर आयुक्त उपस्थित थे। उन्होंने झारखंड हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश डॉ रवि रंजन और न्यायाधीश सुजीत नारायण प्रसाद की अदालत में सुनवाई के दौरान अदालत को बताया कि अंतिम संस्कार के लिए बनाए गए विधुत शवदाह गृह को ठीक कर लिया गया है। इसके बाद अदालत ने कहा कि पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार सरल तरीके से हो, इसको लेकर सभी आवश्यक कदम उठाए और शपथ पत्र के माध्यम से कोर्ट को अवगत कराए।

अगली सुनवाई 22 अप्रैल को

रांची नगर निगम ने अदालत में इस सुनवाई के दौरान बताया कि हरमू के विधुत शवदाह गृह खराब हो गया था, लेकिन उसे अब ठीक करवा लिया गया है। अब अंतिम दाह संस्कार में कोई परेशानी नहीं है। अंतिम दाह संस्कार के लिए अब शवों की लंबी लाइनें नहीं लगेगी। रांची नगर निगम की ओर से पार्थिव शरीर की अंतिम संस्कार के लिए कई तरह की व्यवस्था की गई है। अदालत ने नगर निगम और जिला प्रशासन की जवाब सुनने के बाद मामले में शपथ पत्र के माध्यम से कोर्ट को अवगत कराए और मामले की अगली सुनवाई 22 अप्रैल को होंगी।

हाई कोर्ट में उठा था मामला

आप को बता दें कि 12 अप्रैल को हाई कोर्ट में सुनवाई के दौरान कहा गया था कि कोरोना संक्रमितओं का शव की लाइन लगी है और अंतिम संस्कार नहीं हो रहा है। लोग इससे परेशान है। जिस पर हाईकोर्ट ने रांची नगर निगम और रांची प्रशासन को अदालत में उपस्थित होकर जवाब पेश करने को कहा था। इस आदेश पर रांची डीसी और रांची नगर निगम के अपर नगर आयुक्त उपस्थित होकर जवाब दिया।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction