HC ने रांची सिविल सर्जन को कहा इस्तीफा क्यों नहीं दे देते… लोगों की जान लेना चाहते हैं क्या?

Share

कोरोना को लेकर झारखंड हाईकोर्ट ने रांची के सिवल सर्जन को कड़ी फटकार लगाई। मुख्य न्यायाधीश डॉक्टर रवि रंजन ने कहा सिविल सर्जन इस्तीफा क्यों नहीं दे देते। सबकी जान लेंगे क्या? सिविल सर्जन के अंदर काम करने की भावना नहीं बची है। कोर्ट ने कहा जब हाईकोर्ट के कर्मचारियों की कोरोना जांच रिपोर्ट 4 दिन से पड़ी है तो भी आम लोगों का क्या हाल होगा?

झारखंड हाई कोर्ट के झारखंड स्वास्थ्य सचिव को भी फटकार लगाई। उन्होंने सवाल पूछा कि ऐसे अधिकारी कैसे काम पर बने हुए है? कोर्ट ने इसपर फौरन कार्रवाई करते हुए कोर्ट को सूचित करने को कहा है। झारखंड हाईकोर्ट ने टेस्ट रिपोर्ट की धीमी रफ्तार पर भी नाराजगी जताई है। कोरोना पर झारखंड सरकार को फटकार तब मिली है तब एक दिन पहले ही पीएम मोदी ने राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की। बैठक में कोरोना को लेकर सख्त कदम उठाने को कहा गया। इस बैठक में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरने भी शामिल हुए थे।

देश के साथ ही झारखंड में भी कोरोना की रफ्तार तेजी से बढ़ रहा है। झारखंड में 24 घंटे में 1 हजार 882 नए कोरोना केस सामने आए हैं। एक दिन में 7 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है। झारखंड में अभी 9 हजार 249 कोरोना संक्रमित हैं।

Facebook Comments Box