झारखंड में लॉकडाउन… 22 से 29 अप्रैल तक स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह…

Share

झारखंड में बढ़ते कोरोना संक्रमण पर सीएम हेमंत सोरेन ने आज मंगलवार को सीएम आवास में बैठक कर बड़ा फैसला लिया है। झारखंड में  22 अप्रैल से 29 अप्रैल तक लॉकडाउन रहेगा। सीएम ने राज्य के मुख्य सचिव सुखदेव सिंह के अलावा दूसरे अधिकारियों के साथ बैठक में ये फैसला लिया है। इस लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं को लेकर कुछ रियायतें भी दी गयी हैं. मुख्यमंत्री ने 22 अप्रैल की सुबह 6:00 बजे से 29 अप्रैल की सुबह 6:00 बजे तक स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह की घोषणा की है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि कोरोना के संक्रमण को जनभागीदारी से ही रोका जा सकेगा। ऐसे में आप सभी से अनुरोध है कि अति आवश्यक कार्य को छोड़कर अपने घर से बाहर नहीं निकलें। झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि 22 अप्रैल की सुबह छह बजे से 29 अप्रैल की सुबह छह बजे तक स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह का सभी कड़ाई से अनुपालन करें। झारखंड में कोरोना के इस बढ़ते संक्रमण को रोकने के लिए इसकी चेन को तोड़ना आवश्यक है। झारखंड एक गरीब राज्य है एवं हमारी शुरू से प्राथमिकता रही है कि जीवन और जीविका दोनों को बचाया जाये।

लॉकडाउन में ये रियायतें दी गयी हैं

कोरोना महामारी की चेन को तोड़कर कर उस पर नियंत्रण के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह 22 से 29 अप्रैल की सुबह छह बजे तक लागू रहेगा। इस दौरान ये रियायतें दी गयी हैं।

1. जरूरी समानों की दुकानों को छोड़कर अन्य सभी दुकानें बंद रहेंगी।

2. भारत सरकार, राज्य सरकार तथा निजी क्षेत्र के चिन्हित कार्यालय को छोड़कर सभी कार्यालय बंद रहेंगे।

3. कृषि, औद्योगिक, निर्माण एवं खनन कार्य की गतिविधियां चलती रहेंगी।

4. धार्मिक स्थल खुले रहेंगे, लेकिन श्रद्धालुओं की उपस्थिति प्रतिबंधित रहेगी।

5. अनुमति प्राप्त कार्यों को छोड़कर कोई भी व्यक्ति अपने घर से बाहर नहीं निकलेगा।

6. 5 से अधिक व्यक्तियों का कहीं भी एकत्रित होना वर्जित रहेगा।

7. राज्य में इंटर स्टेट और इंट्रा स्टेट आवागमन को प्रभावित नहीं किया जाएगा।

8. एक जिले से दूसरे जिलों के लिए वाहनों का आवागमन जारी रहेगा। झारखंड से पड़ोसी राज्यों तक भी बसें फिलहाल चलती रहेंगी।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction