22 लोगों का ‘कातिल‘ नरेश सिंघानिया गिरफ्तार… 2017 के शराब कांड से हिल गया था झारखंड…

Share

जहरीली शराब से हुई मौतों का मुख्य आरोपी नरेश सिंघानिया को रांची पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा को मिली गुप्त सूचना के आधार पर शराब माफिया नरेश सिंघानिया को पुलिस ने नामकुम थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। बता दें नरेश सिंघानिया कई सालों से फरार चल रहा था। शराब माफिया नरेश सिंघानिया से पुलिस गुप्त स्थान पर रखकर पूछताछ कर रही है।

बताया जा रहा है कि 2017 जहरीली शराब पीने से 22 से ज्यादा लोग की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस को नरेश सिंघानिया की तलाश थी। कहा जा रहा है कि करम पर्व के मौके पर 2 सितंबर 2017 की रात अवैध शराब कारोबारी सिंघानिया बंधु प्रहलाद सिंघानिया और नरेश सिंघानिया ने रांची के बाजार में नकली शराब की एक बड़ी खेप उतारी थी। इस जहरीली शराब का पी कर 22 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। मरनेवालों में जैप के चार जवान भी शामिल थे। जांच के बाद यह स्पष्ट हो गया था कि जहरीली शराब की यह खेप सिंघानिया बंधुओं द्वारा बाजार में परोसी गई थी। इसके बाद रांची के नामकुम, सुखदेवनगर और डोरंडा में प्राथमिकी दर्ज की गई थी। सिंघानिया बंधु के खिलाफ अवैध शराब के कारोबार का पहला मामला 2005 में दर्ज हुआ था। अवैध शराब कारोबारी प्रह्लाद सिंघानिया 4 सितंबर 2017 से ही फरार था। पुलिस को चकमा देकर वह ठिकाना बदल-बदलकर रह रहा था। 2017 में शराब से हुई मौतों के बाद राज्य सरकार ने मामले की जांच सीआईडी को सौंप दी थी,  इस मामले में दो थानेदार और एक उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर को सरकार ने निलंबित कर दिया था।

1 2 3 109