नक्सली प्रशांत बोस ने किया खुलासा… ‘किस इलाके से होती है सबसे ज्यादा लेवी की वसूली’

Share

1 करोड़ के इनामी नक्‍सली प्रशांत बोस और उसकी पत्‍नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी के बाद एक और बड़ा खुलासा हुआ है. झारखंड पुलिस  रिमांड में पूछताछ के दौरान प्रशांत बोस  ने संगठन के द्वारा वसूली जाने वाली लेवी को लेकर बड़ा खुलासा किया है. बता दें नक्सली प्रशांत बोस के साथ कई दूसरे नक्सलियों को कड़े सुरक्षा इंतजामों के बीच कैदी वैन में उसे सरायकेला से रांची लाकर होटवार जेल में रखा गया है.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार प्रशांत बोस के अनुसार सरकारी विकास योजनाओं सहित सबसे ज्यादा लेवी कोयल शंख जोन से उठता है. पुलिस ने गिरफ्तारी के बाद प्रशांत बोसको रिमांड पर लिया था. रिमांड पर हुई पूछताछ के दौरान यह बात सामने आई है कि कोयल शंख जोन से माओवादियों को सर्वाधिक लेवी मिलती है. कोयल शंख जोन में सरकारी विकास योजनाओं, बीड़ी पत्ता कारोबार, खनन से लेवी की वसूली होती है. कोयल शंख जोन के बाद मध्य जोन और अन्य इलाकों से लेवी की राशि संगठन को आती है. प्रशांत बोस ने पुलिस को बताया है कि माओवादियों को मिलने वाली लेवी की राशि का बंटवार संगठन के द्वारा मिलिट्री कमीशन, रीजनल कमेटी, जोनल कमेटी, एरिया कमेटी के बीच किया जाता है. प्रशांत बोस के बाद एक करोड़ के इनामी मिसिर बेसरा को संगठन की कमान मिलना तय माना जा रहा है. झारखंड पुलिस और खुफिया विभाग मिसिर के बारे में सूचना एकत्र कर रही है. पुलिस और खुफिया एजेंसियों को जो सूचनाएं मिली हैं उसके मुताबिक, प्रशांत बोस की गिरफ्तारी के बाद पोलित ब्यूरो सदस्य मिसिर बेसरा की टीम ज्यादा आक्रामक होने की कोशिश करेगा. यही वजह है कि मिसिर बेसरा की टीम प्रशांत बोस की गिरफ्तारी में शामिल पुलिसकर्मियों और खुफिया एजेंसियों के सदस्यों को चिन्हित करने में जुटी है.

1 2 3 160
Facebook Comments Box