भ्रष्टाचार की कमाई से बने बंगले में अब ईडी करेगी भ्रष्टाचार और मनी लाउंड्रिंग केसों की जांच…

Share

रांची में ईडी का नया दफ्तर भ्रष्टाचार और मनी लाउंड्रिंग के मामले में दोषी पूर्व मंत्री एनोस एक्का के आवास में अपना दफ्तर खोला है. बता दें एडुकेटिंग अथॉरिटी के आदेश पर ईडी ने फरवरी 2021 में एनोस एक्का के एयरपोर्ट रोड पर स्थित बंगले को सील किया था. ईडी ने राज्य सरकार से कई बार दफ्तर की मांग की थी. राज्य सरकार ने एक बार उत्पाद विभाग की नई बिल्डिंग में दफ्तर के लिए कमरा आवंटित का आदेश भी दिया, लेकिन उत्पाद विभाग की आपत्ति के बाद नई बिल्डिंग में जगह नहीं मिली. अब ईडी ने एनोस एक्का के जब्त बंगले में ही दफ्तर खोलने का फैसला लिया है.

मनी लाउंड्रिंग के केस में पूर्व मंत्री एनोस एक्का को सात साल की सजा मिल चुकी है. इसके साथ ही एनोस एक्का पर दो करोड़ का हर्जाना भी कोर्ट ने लगाया था. हर्जाना की रकम नहीं चुकाने पर एक साल के अतिरिक्ति सश्रम कारावास की सजा सुनाई गई थी. इतना ही नहीं, ईडी एनोस एक्का के हिनू स्थित मकान सहित कई संपत्तियों को जब्त कर चुकी है. ईडी के अधिकारियों के मुताबिक एनोस एक्का ग्रामीण विकास, एनआरईपी, ट्रांसपोर्ट, पंचायती राज और भवन निर्माण विभाग के मंत्री थे. 12 मार्च 2005 से 19 दिसंबर 2008 तक वो मंत्री रहे. इस दौरान उन्होंने आय से अधिक संपत्ति अर्जित की. ईडी अधिकारी ने बताया कि सीबीआई में दर्ज केस के आधार पर ईडी ने मनी लाउंड्रिंग के तहत मामला दर्ज किया. ईडी ने अपनी जांच में पाया कि एनोस एक्का ने 22 करोड़ 38 लाख 40 हजार 257 रुपये की मनी लाउंड्रिंग की है.

1 2 3 150
Facebook Comments Box