OBC विभाग के अध्यक्ष अभिलाष साहू ने भाजपा पर किया प्रहार ,कहा दलित की याद केवल चुनावी समय में

Share

झारखंड (रांची) : OBC की सारी परेशानी, दुख दर्द केवल चुनाव के समय याद आते है, दलित केवल चुनावी संख्या की बढ़त बनाने के लिए है ,झारखंड में OBC वर्ग को 27 फीसदी आरक्षण दिये जाने की मांग को लेकर झारखंड प्रदेश कांग्रेस ने राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन किया. राजधानी रांची में राजभवन के समक्ष आयोजित धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में पार्टी नेताओं ने हर हाल में OBC वर्ग को 27 फीसदी आरक्षण दिलाने की प्रतिबद्धता जाहिर की.

 

OBC विभाग के अध्यक्ष अभिलाष साहू ने भाजपा पर जमकर प्रहार किया. कहा कि भाजपा को OBC आरक्षण पर बोलने का नैतिक अधिकार नहीं है. झारखंड में सबसे अधिक समय तक सत्ता में रहने वाली भाजपा को ओबीसी वर्ग की याद सिर्फ चुनावी मौसम में आती है.

 

वहीं, झारखंड कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि पार्टी के इस धरना कार्यक्रम से भाजपा के पेट में दर्द उठना स्वाभाविक है. कहा कि भाजपा को यह पता होना चाहिए कि कांग्रेस पार्टी ने जनतंत्र को इतना मजबूत किया है कि आज एक चाय बेचनेवाला व्यक्ति जो पिछड़े समुदाय से आता है देश का प्रधानमंत्री है. कांग्रेस पार्टी ने सिर्फ आजादी की लड़ाई नहीं लड़ी है, बल्कि संविधान बनाने और आरक्षण देने का भी काम किया है।

उन्होंने कहा कि 27 फीसदी आरक्षण दिलाने को लेकर कांग्रेस पार्टी प्रतिबद्ध है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सीताराम केसरी ने सबसे पहले इस मुद्दे को लेकर सर्वोच्च न्ययालय में ले जाने का काम किया था. हमने सरना कोड को विधानसभा सभा से पारित करवा कर केंद्र सरकार को भेजने का कार्य किया है.

 

श्री ठाकुर ने भाजपा को ललकारते हुए कहा कि अगर भाजपा में हिम्मत है, तो एकबार केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री से यह कहकर दिखाये कि सरना कोड झारखंड की जरूरत है. साथ ही सवाल उठाया कि जब केंद्र और प्रदेश में डबल इंजन की सरकार थी, तब क्यों नहीं OBC समुदाय को आरक्षण का लाभ दिया गया. भाजपा की कथनी और करनी में अंतर साफ दिखता है. उन्होंने आजसू को भी आड़े हाथों लेते हुए कहा कि यह पार्टी सिर्फ सत्ता में साझेदारी बनती है. पिछड़ों के लिए आरक्षण इनके लिए कोई मुद्दा नहीं है.

 

वहीं, कांग्रेस की राष्ट्रीय सचिव दीपिका पांडेय सिंह ने कहा कि कांग्रेस पार्टी OBC समुदाय के 27 प्रतिशत आरक्षण को दिलाने को कटिबद्ध है. कांग्रेस पार्टी ही OBC समुदाय की सदैव पक्षधर रही है. जनता से जो वादा हमने किया था वो महागठबंधन सरकार पूरा करेगी. सरकार ने सदन के अंदर आश्वासन भी दिया है.

 

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता ने कहा कि जनसंख्या के अनुपात में OBC समुदाय को आरक्षण का लाभ मिलना ही चाहिए. सरकार के अंदर इस बात को लेकर सहमति भी है. महागठबंधन के मुखिया हेमंत सोरेन इस बात को लेकर संजीदा भी हैं. वहीं, मंत्री बादल पत्रलेख ने कहा कि कांग्रेस पार्टी OBC समुदाय को समावेशी विकास में समुचित भागीदारी दिलाने को लेकर वचनबद्ध है. कहा कि हम सरकार में जरूर हैं, पर जनता के सरोकार को अनदेखी नहीं कर सकते.

 

विधायक प्रदीप यादव ने अपने संबोधन में कहा कि यह सर्वविदित है कि पिछली सरकार ने सिर्फ सुप्रीम कोर्ट केस का हवाला देकर लंबे समय तक इस मसले को उलझा कर रखने का काम किया, जबकि उस केस का फैसला बहुत पहले ही आ चुका था. कांग्रेस पार्टी और महागठबंधन सरकार इस विषय पर सकारात्मक रुख रखती है. इसलिए कांग्रेस पार्टी इस बात को लेकर गंभीर हैं और चाहते हैं कि इस मामले में निर्णय जल्द आये.

 

कार्यकारी प्रदेश अध्यक्ष जलेश्वर महतो एवं शहजादा अनवर ने भी अपने संबोधन में कांग्रेस पार्टी के OBC समुदाय को 27 प्रतिशत आरक्षण को लेकर प्रतिबद्धता दोहराया. कहा कि झारखंड सरकार ने इस वर्ष को नियुक्ति वर्ष घोषित किया है और इसकी प्रक्रिया भी बहुत जल्द शुरू होने जा रही हैं. इसलिए पार्टी चाहती है कि बहुसंख्यक आबादी कहीं इससे वंचित न हो जाये. इसलिए राज्यव्यापी धरना प्रदर्शन कार्यक्रम के माध्यम से OBC वर्ग को लाभ दिलाने की कोशिश हो रही।

 

धरना कार्यक्रम को विधायक अंबा प्रसाद, प्रवक्ता राजीव रंजन प्रसाद, सतीश पॉल मुंजनी, डॉ एम तौसीफ, पूर्व कार्यकारी अध्यक्ष मानस सिन्हा, मोर्चा संगठन प्रभारी रवींद्र सिंह, कार्यालय प्रभारी अमुल्य नीरज खलखो, वरिष्ठ कांग्रेस नेता प्रदीप तुलस्यान, शमशेर आलम, विनय सिन्हा दीपू, SC विभाग के चेयरमैन केदार पासवान, रमा खलखो, सुनील सिंह, महानगर अध्यक्ष संजय पांडेय, अजयनाथ शाहदेव, आलोक दुबे, राजेश गुप्ता, किशोर शाहदेव, सलीम खान, जगदीश साहू, निरंजन पासवान, खेल प्रकोष्ठ के अमरेंद्र सिंह, राजेश चंद्र राजू आदि ने भी संबोधित किया.

1 2 3 179
Facebook Comments Box