एक तरफ रांची और धनबाद में ऑक्सीजन की किल्लत… दूसरी तरफ 100 सिलेंडर तालें में बंद …

Share

ऑक्सीजन का संकट से शुक्रवार को रांची के सदर अस्पताल और धनबाद पीएमएसीएच में अफतारफरी मची रही। ऑक्सीजन को लेकर रांची सदर अस्पताल में इसके लिए हंगामा भी हुआ। वहीं धनबाद के निजी अस्पतालों में भी संकट बना हुआ है।

आपको बता दें कि रांची सदर अस्पताल में सुबह आठ बजे के बाद ऑक्सीजन की कमी के कारण अफरातफरी मची गई। जिसे लेकर मरीज के परिवार वालों ने हंगामा कर दिया। जिसके बाद गंभीर रूप से बीमार मरीजों को ऑक्सीजन जल्दबाजी में मुहैया करा दिया गया। इसके बाद भी 25 से 30 मरीजों के परिवार वाले घंटों सिलेंडर का इंतजार करते रहे।

इस मामले में अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि उन्हें जरूरत की आधी ही सप्लाई मिल रही है इसलिए फुल फ्लो में ऑक्सीजन नहीं दिया जा रहा। फुल फ्लो में ऑक्सीजन देने पर 3 घंटे में ही रिफिलिंग की स्थिति हो जाती है। सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ मंडल ने बताया कि सदर अस्पताल को टी 2 टाइप के 50 सिलेंडर की जरूरत होती है पर 25 ही मिल पा रहा है। ऐसे में प्रशासन से कहा गया है कि ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली एजेंसी की संख्या बढ़ायी जाए।

बताया जा रहा है कि सदर अस्पताल में 300 बेड की व्यवस्था है। सभी में गंभीर रूप से कोरोना संक्रमित मरीज भर्ती हैं। सभी को ऑक्सीजन की जरुरत है। सदर अस्पताल के तीसरे तल्ले में 60 बेड का आईसीयू है। इसके अलावा दो अन्य फ्लोर में 240 ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड हैं। ऐसे में ऑक्सीजन का पूरे फ्लो में मरीजों को नहीं मिल पाना गंभीर चिंता की बात है।

मिली जानकारी के अनुसार धनबाद के अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की किल्लत शुरू हो गई है। एसएनएमएमसीएच (पीएमसीएच) में मरीजों को खुद ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था करने को कहा गया है। पीजी ब्लॉक स्थित कोविड सेंटर में सुबह 3 बजे ऑक्सीजन समाप्त हो गई थी। इसके कई मरीजों की स्थिति गंभीर हो गई। यहां ऑक्सीजन की कमी के कारण एक महिला मरीज की मौत की भी खबर है। मरीजों के परिवार का आरोप है कि दोपहर तक मरीज ऑक्सीजन की किल्लत झेलते रहे। हालांकि इस मामले में प्रबंधन ने कहा कि शनिवार दोपहर बाद ऑक्सीजन की आपूर्ति हो गई। इधर, धनबाद के प्राइवेट अस्पतालों में भी ऑक्सीजन की किल्लत मरीजों को झेलनी पड़ रही है।

एक तरफ जहां सिलेंडर के लिए हर जगह अफरातफरी मची है।घंटो तक परिवार वालें सिलेंडर का इंतजार करते रहे। वहीं, दूसरी तरफ सदर अस्पताल के कोविड वार्ड सबसे निचले तल्ले के एक रूम में 100 सिलेंडर ताला बंद कर रखा गया था। ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली एजेंसी ने बताया कि यह 100 सिलेंडर रिम्स के लिए हैं कैसे सदर में दे दिए जाएं। उसके बाद ट्रक में भरकर रिम्स पहुंचाया गया।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction