मुंबई से हटिया स्टेशन पहुंचे यात्री बैरिकेडिंग तोड़ भागे…

Share

कोरोना के बढ़ते आकड़ों के बावजूद लोग लापरवाही से बाज नहीं आ रहे है। मुंबई से 1700 यात्री शुक्रवार को ट्रेन से हटिया पहुंचे। यहां आने वाले यात्रियों की कोरोना जांच की जा रही थी, लगभग दो घंटे में 622 यात्रियों की जांच हुई। इसके बाद भीड़ बेकाबू हो कर हंगामा करने लगे। बैरिकेडिंग तोड़कर धक्का-मुक्की करते हुए वहां से निकल गए।

स्टेशन के बाहर खड़ी गाड़ियां उन्हें ठूंस-ठूंसकर ले गईं। इससे मुंबई से आए 1078 यात्रियों की जांच ही नहीं हो पाई। बताया जा रहा है कि जिन 622 यात्रियो की जांच हुई, उनमें से गिरिडीह के तीन लोग पॉजिटिव मिले थे। लेकिन वह भी इस धक्का-मुक्की में भाग निकले। काफी मशक्कत के बाद तीनों को वापस बुलाया और क्वारेंटाइन सेंटर ले गए।  

कहा जा रहा है कि रेलवे ने पहले ही जिला प्रशासन को सूचित कर दिया था कि मुंबई से शुक्रवार को 1700 यात्रियों को लेकर ट्रेन आने वाली है। लेकिन जांच के लिए पर्याप्त काउंटर की व्यवस्था और पर्याप्त पुलिस बल नहीं थी। रांची एसडीओ उत्कर्ष गुप्ता खुद अपनी टीम के साथ वहां मौजूद थे, इसके बावजूद वह भीड़ को संभालने में नाकाम रहे।

लापरवाही में यात्री ही नहीं जिला प्रशासन के लोग भी कम नहीं थें।यात्रियों के जांच के बाद यूज किया हुआ किट स्टेशन पर ही छोड़कर चले गए। इस पर स्टेशन मैनेजन बसंत कुमारी सूरी ने गंभीर आपत्ति जताई है। इसकी शिकायत आला अधिकारियों से की है।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction