रामनवमी के जुलूस पर रोक से झारखंड की सियासत गरमाई

Share

देश भर में एक बार फिर से कोरोना अपने पांव पसार रहा है। ऐसे में उसको काबू करने के लिए झारखंड सरकार ने भी कुछ नई गाइड लाइन जारी की है। इसके तहत इस दौरान पड़ने वाले सभी त्योहारों के जुलूस पर सरकार ने रोक लगा दी है। जिसमे तहत रामनवमी के जुलूस पर भी पाबंदी लगा दी गई है। जिस पर भाजपा को सियासत करने का मौका मिल गया। ऐसे में गोड्डा से भाजपा सांसद निशिकांत दूबे ने सरकार के इस फैसले से अपनी असहमति जताई है। उन्होंने कहा कि जब सारे विरोध के बावजूद मैंने बाबाधाम देवघर का मंदिर सुप्रीम कोर्ट के आदेश से खुलवा दिया तो रामनवमी के जुलूस को निकालने के लिए भी मैं सुप्रीम कोर्ट जाऊंगा। आपको बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर को देखते हुए झारखंड सरकार ने भी कुछ नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। जिसके तहत सार्वजनिक जगहों पर होली खेलने पर मनाही रहेगी। सरहुल,शब-ए-बारात,नवरात्रि, रामनवमी व ईस्टर आदि त्योहारों पर निकलने वाले जुलूसों पर रोक लगा दी गई है। लेकिन रामनवमी के जुलूस के रोक पर भाजपा ने सियासत करना शुरू कर दिया है। उसका कहना है कि सरकार रामनवमी के जुलूस की अनुमति दे।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction