झारखंड हाईकोर्ट में आज से फिजिकल होगी मुकदमों की सुनवाई… फरियादी से वकील तक को राहत

Share

रांची. कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार गिरावट और सुधरे हालात को देखते हुए महीनों बाद एक बार फिर से हाई कोर्ट में फिजिकल सुनवाई सोमवार से शुरू हो गई है. इससे फरियादी से लेकर वकील तक को राहत मिलने की उम्‍मीद है. जानकारी के अनुसार, हाई कोर्ट में हफ्ते में 3 दिन फिजिकल और 2 दिन वर्चुअल मोड में सुनवाई होगी. सोमवार, मंगलवार और गुरुवार को फिजिकल मोड में और बुधवार व शुक्रवार को वर्चुअल तरीके से सुनवाई होगी.

देश भर की अदालतों ने संक्रमण को फैलने से रोकने और अपने वकीलों और अन्य न्यायिक कर्मचारियों के मुवक्किलों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए फिजिकल कार्यवाही रोक दी थी। बताते चले कि देश की विभिन्‍न अदालतों में जज समेत कई कर्मचारी कोरोना वायरस संक्रमण की चपेट में आ गए थे. इसे देखते हुए अदालतों ने फिजिकल सुनवाई को रोकते हुए वर्चुअल मोड में कामकाज करने का फैसला लिया था. हालात में सुधार के बाद वकीलों की ओर से कोर्ट को दोबारा से सामान्‍य तरीके से चलाने की मांग की जा रही थी. झारखंड में कोरोना संक्रमितों की संख्‍या में लगातार गिरावट को देखते हुए और कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करते हुए अदालत को सप्‍ताह में तीन दिन सामान्‍य तरीके से कामकाज करने का फैसला लिया गया है. वहीं, दो दिन वर्चुअल मोड में ही सुनवाई होगी.

जानकारी के अनुसार, झारखंड हाई कोर्ट में फिजिकल सुनवाई को लेकर सभी तरह की जरूरी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. फिजिकल सुनवाई के लिए 8 कोर्ट रूम तैयार कर लिए गए हैं. हर न्यायालय कक्ष को शीशे के तीन लेयर से घेरा गया है. जजों के टेबल के सामने, कोर्ट मास्टर और पेशकार के सामने शीशा का घेरा लगाया गया है. दोनों पक्षों के वकील जहां से बहस करते हैं, वहां भी शीशे का केबिन बनाया गया है. इसी प्रकार सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कोर्ट रूम में 6 से 8 वकीलों के ही बैठने की व्यवस्था की गई है.

Facebook Comments Box