झारखंड की बेटी की कविता सुनेगा अमेरिका… हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में वंदना टेटे का कविता पाठ

Share

झारखंडी होने पर गर्व कीजिए, क्योंकि झारखंड की बेटी अमेरिका के हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में कविता पाठ करने जा रही है। जी हां, ये 100 फीसदी सच है। रांची की रहने वाली वंदना टेटे को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने एक कार्यक्रम में कविता पाठ के लिए आमंत्रित किया है। देश की दो महिला कवयित्री को हार्वर्ड यूनिवर्सिटी ने कार्यक्रम में बुलाया गया है, जिसमें से एक वंदना टेटे भी है। कोरोना संक्रमण की वजह से यूनिवर्सिटी के इस कार्यक्रम में वंदना टेटे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हिस्सा लेंगी।

वंदना टेटे 30 अप्रैल को इस कार्यक्रम में अपनी कविता पेश करेंगी। भारत और अमेरिका के समय में अंतर है, इसलिए भारत में कार्यक्रम रात 10:30 बजे से रात 11:30 बजे के बीच होगा। ये पहला मौका है जब अंतरराष्ट्रीय मंच पर किसी को आदिवासी कविता पेश को मिला है। वंदना टेटे जल जंगल जमीन आंदोलन पर दर्जनों कविताएं लिख चुकीं हैं। वंदना टेटे 30 साल से ज्यादा वक्त से कविता और साहित्य के क्षेत्र में काम कर रही हैं। वो पत्थलगड़ी पर भी कई किताबें लिख चुकी है। आदिवासी अंतरराष्ट्रीय प्रकाशन ने इन किताबों को प्रकाशित किया है।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction