डोर-टू-डोर टेस्टिंग अभियान: साहिबगंज के ग्रामीण इलाकों में कोरोना वैक्सीन के लिए कर रहे जागरूक…

Share

झारखंड के ग्रामीण इलाकों में लोग अब भी कोरोना को लेकर जागरूक नहीं हैं। कई टीकाकरण केंद्रों पर सन्नाटा पसरा हुआ है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ग्रामीण इलाकों में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए आंगनबाड़ी सेविका, सहायिका और सखी मंडल की दीदियों को डोर-टू-डोर कैंपेन चलाने का निर्देश दिया था। राज्य के पारा शिक्षकों को भी इस काम में लगाया गया है। साहिबगंज के बोरियो प्रखंड के अलग-अलग गांवों में डोर-टू-डोर कैंपेन चलाया गया। डोर-टू-डोर कैंपेन चला रहें है टीमों ने बोरियो प्रखंड के अलग-अलग पंचायतों के गावों को कोरोना महामारी, इसके बचाव, रोकथाम और वैक्सीनेशन के प्रति जागरूक किया।

बता दें बोरियो प्रखंड के खैरवा, बोरियो बाजार, बोरियो संताली, बीचपुरा, मोतीपहाड़ी, तेलो, बांझी और अप्रोल में चार सदस्यीय टीम बनाकर डोर-टू-डोर कैंपेन चलाया गया। इन टीमों ने अलग-अलग गावों में घूमकर प्रत्येक परिवार में संदिग्ध लक्षण वाले लोगों का तापमान और ऑक्सीजन लेवल जांचा। जिन ग्रामीणों में कोरोना जैसे लक्षण मिले उनका रिकॉर्ड पंचायत स्तरीय दल को सौंप दिया गया। जो लोग संदिग्ध पाये गए हैं उनकी कोरोना जांच की जायेगी। यदि वे पॉजिटिव पाए जाते हैं तो उनको आइसोलेशन सेंटर या फिर अस्पताल में भर्ती कर उनका इलाज कराया जायेगा। बता दें कि 25 मई से 5 जून तक ये अभियान चलाया जायेगा।

1 2 3 74

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction