साहिबगंज में बैंड और बाजा तो था… पर बारात में घपला, एक सवाल और भाग खड़े हुए बाराती… मामला दर्ज

Share

साहिबगंज में शादी की आड़ में मानव तस्करी का खेल सामने आया है। साहिबगंज के रसूलपुर एक व्यक्ति ने अपनी बेटी के शादी अपने ही रिश्तेदार अगुआ के माध्यम से बिहार के भागलपुर के पीरपैंती के राजेश कुमार राय से तय की थी। कहा जा रहा है कि सिंदूरदान से पहले वर के लड़की के बेचने की बात सुनकर लड़की के पिता ने पूछताछ की तो बाराती भाग खड़े हुए। आरोप है कि अगुआ के माध्यम से लड़के पक्ष को उसने डेढ़ लाख रुपये नगद भी दिए थे।


लड़की के पिता ने बताया कि बेटी की शादी पक्की हो गई थी। लड़की पक्ष पूरी तैयारी के साथ पुलिस लाइन के शिव मंदिर में शादी करने का फैसला लिया था। बीती रात को तय समय पर दूल्हा बरात के साथ शादी करने मंदिर पहुंचा। सिंदूरदान की रस्म होने लगी तो लड़की के पिता ने दूल्हे के मुंह से लड़की को लेकर कुछ आपत्तिजनक बात सुनी तो लड़की के पित को शक हो गया और पूछने लगा कि लड़के के रिश्तेदार, माता-पिता, भाई-बहन और चाचा कहां है, जब लड़की के पिता ने इंक्वायरी शुरू की तो बाराती भागने लगे। इस पर लड़की के पिता ने नगर थाने में सूचना दी। दूल्हे और शादी कराने वाले अगुआ को पुलिस को सौंप दिया। हालांकि बाद में आरोपियों को थाने से छोड़ दिया गया। इस पर कार्रवाई की मांग को लेकर पीड़ित लड़की और उसके पिता ने साहिबगंज एसपी से कार्रवाई की गुहार लगाई। एसपी से मिलने पहुंचे लड़की के पिता ने बताया कि शादी कराने वाले अगुआ के माध्यम से दो बार में दूल्हा पक्ष को डेढ़ लाख रुपये भी दिए थे। उसका कहना है कि अगुआ उसका रिश्तेदार ही था। इसलिए उसने ज्यादा पड़ताल नहीं की थी।

1 2 3 116
Facebook Comments Box