मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के काफिले को भीड़ ने रोका…. रांची में माहौल गर्म

Share

रांची के किशोरगंज चौक के पास मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के काफिले को रोका गया । ओरमांझी में एक युवती के साथ दुष्कर्म और फिर सिर काट कर हत्या किये जाने से लोग गुस्से में थे। गुस्साये लोगों ने शाम करीब छह बजे सीएम की पेट्रोलिंग एस्कॉर्ट गाड़ियों को रोक कर विरोध जताया। इस दौरान गुस्साए लोगों ने कई वाहनों में तोड़फोड़ और पुलिसकर्मियों पर भी हमला किया। फिलहाल मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सुरक्षा के मद्देनजर सीएम का काफिला रास्‍ता बदलकर रवाना हुआ।मौके पर बड़ी संख्‍या में पुलिस बल मौजूद है। रांची के एसएसपी, रांची के डीसी और अन्‍य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। गोंदा ट्रैफिक थानेदार रास्ता क्लियर कराने आगे गए थे। इस दौरान गुस्साये लोगों ने उनपर भी हमला कर दिया। गोंदा ट्रैफिक थानेदार नवल किशोर गंभीर रूप से जख्मी हो गए हैं। उन्‍हें मेडिका अस्पताल ले जाया गया है।

प्रदर्शनकारियों ने जताया विरोध.

बताया जा रहा है कि सीएम के काफिले के आने के पहले से ही प्रदर्शनकारी एकजुट होने लगे थे। जैसे ही सीएम का कारकेड वहां पहुंचा, प्रदर्शनकारी सड़क पर आ गए। वे ओरमांझी में हुई दुष्‍कर्म-हत्या की घटना को लेकर सीएम से बात करना चाहते थे। उनका कहना था कि हेमंत सोरेन के एक साल के कार्यकाल में दुष्‍कर्म की घटनाएं लगातार बढ़ रही हैं।  आप को बता हें कि रविवार को रांची जिले के ओरमांझी इलाके में एक लड़की का सर कटा शव मिला था। उसके साथ दुष्‍कर्म की आशंका जताई गई है। युवती का सर अभी तक नहीं मिला है। उसके गुप्‍तांग को भी तहस-नहस कर दिया गया था। शरीर पर एक भी कपड़ा मौजूद नहीं था। इससे आक्रोशित लोग आज इसी घटना के विरोध में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि सीएम सुरक्षित हैं। उन्हें दूसरे मार्ग से उनके आवास तक पहुंचाया गया।

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction