BIT Sindri में 63 प्राध्यापकों की नौकरी संकट में… जानिए इसकी बड़ी वजह…

Share

सिंदरी : झारखंड के सिविल सेवा आयोग ने बिरसा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (बीआईटी) के सहायक प्रोफेसर सिंदरी में प्रशिक्षण को जारी रखने के लिए स्थायी नियुक्ति के लिए साक्षात्कार की तिथि की घोषणा की है। लंबी अवधि के अनुबंधित प्रोफेसरों को साक्षात्कार से दूर रखा गया है। इस मामले में संविदा कर्मचारी अपनी सेवाएं खो सकते हैं। समिति ने 13/201 को बीआईटी सहायक प्रोफेसरों के साक्षात्कार समय की घोषणा की। समिति के अनुसार बीआईटी में कार्यरत प्रोफेसरों ने तकनीकी खराबी के कारण आवेदन नहीं किया और उच्च न्यायालय से तकनीकी खामियां दूर करने का अनुरोध किया. संविदा आधारित प्राध्यापकों ने बताया कि उच्च न्यायालय में याचिका पर सुनवाई शुरू हो गयी है. याचिकाकर्ता के मुताबिक दूसरी सुनवाई 11 नवंबर को होगी।

बीआइटी को एनबीए की मान्यता दिलाने में संविदा पर कार्यरत प्राध्यापकों का महत्वपूर्ण योगदान है. उन्हें उम्मीद थी कि सरकार और आयोग उनके योगदान को देखते हुए साक्षात्कार के लिए अनुमति देंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ. संविदा पर कार्यरत ऐसे 63 प्राध्यापकों की नौकरी समाप्त होनी तय है. इस संबंध में बीआइटी सिंदरी के निदेशक डीके सिंह से बात की गयी तो उनका कहना थ कि वह इस बाबत कुुछ नहीं बता सकते हैं.

1 2 3 179
Facebook Comments Box