झारखंड में वैक्सीन संकट…खत्म होने की कगार पर 18+ के लिए वैक्सीन… कई सेंटर बंद…

Share

कोरोना महामारी से बचने का एक मात्र उपाय वैक्सीन लगाना है। लेकिन राज्य में युवाओं के टीकाकरण पर ब्रेक लग सकता है। कहा जा रहा है कि राज्य में अब 80 हजार टीके ही स्टॉक में हैं। शुक्रवार को देवघर, धनबाद जैसे बड़े जिलों में इस आयुवर्ग का टीका खत्म हो चुका है। कई जिलों में एक दिन का स्टॉक है। सरायकेला में 600 और खूंटी में 750 टीका बच गया है। दुमका में भी शनिवार के बाद युवाओं के लिए टीका नहीं बचेगा। वहां शुक्रवार की सुबह तक मात्र 1050 टीका बचा था।

राज्य में टीकाकरण के स्टेट नोडल अफसर ए डोडे का कहना है कि कई जिलों में इस आयुवर्ग के लिए टीका खत्म होने के बाद राज्य में अब महज 80 हजार ही टीका बचा हुआ है। अब अगले माह पांच लाख टीका मिलेगा। राज्य में गुरुवार तक 18 से 44 आयुवर्ग के 463380 लोगों को पहला डोज दिया जा चुका है, जबकि इस आयुवर्ग के 1.57 करोड़ लोगों को टीका देना है। इसके बाद भी महज एक सप्ताह ही टीकाकरण चल सकता है। ए. डोडे ने बताया कि 18-44 आयुवर्ग के लोगों के लिए राज्य को 3.5 करोड़ टीका चाहिए। इनमें से हमें 5.5 लाख टीका मिला है, जबकि अगले माह 5 लाख टीका मिलेगा। उन्होंने बताया कि 18 प्लास के लिए राज्य को खुद टीका खरीदना है, लेकिन टीका बनाने वाली कंपनियां किस राज्य को कब कितना टीका देगी, इसका निर्धारण केंद्र सरकार ही करती है। राज्य को केवल निर्धारित टीके का भुगतान टीका कंपनी को करना है। बता दें  45 से ज्यादा उम्र के लोगों का टीकाकरण जारी रहेगा। इनके लिए सरकार के पास अभी करीब छह लाख टीके पड़े हैं।

1 2 3 73

50 हजार से अधिक सम्मानित पाठकों के साथ झारखंड जंक्शन झारखंड का सबसे ज्यादा पढ़ा जाने वाला ऑनलाइन न्यूज पोर्टल है।

विज्ञापन के लिए संपर्क करें- 7042419765

Facebook/Jharkhand Junction