16 जनवरी को कोरोना वैक्सीन लगी… 17 जनवरी को मौत हो गई

Share

कोरोना वैक्सीन के साइड इफेक्ट को लेकर देश भर में बहस चल रही है, बहस के बीच 16 जनवरी को सरकार ने सबसे बड़े टीकाकरण अभियान की शुरुआत कर दी, और सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया, इसी कड़ी में पहले दिन देश के जाने माने डॉक्टर्स ने वैक्सीन लगवाई, लेकिन यूपी के मुरादाबाद में जिला अस्पताल के वार्ड बॉय के साथ जो हुआ उसने वैक्सीन को लेकर कई सवालों को जन्म दे दिया, दरअसल स्वास्थ्य कर्मी महिपाल सिंह को 16 जनवरी को वैक्सीन लगवाई गई, और 17 जनवरी को अचानक उसकी मौत हो गई,

टीके पर परिवार ने सवाल खड़े किए

Credit: NDTV

कर्मचारी की मौत हुई तो परिजनों ने वैक्सीन पर सवाल खड़े कर दिए, परिजनों ने आरोप लगाया कि वैक्सीन लगवाने के बाद उनकी तबीयत खराब हुई  शनिवार को उन्हें कोरोना का टीका लगाया गया, रविवार को अचानक सीने में दर्द और सांस लेने में तकलीफ की शिकायत हुई, जिसके बाद आनन फनन में परिजन अस्पताल लेकर पहुंचे जहां डॉक्टर ने महिपाल को मृत घोषित कर दिया।

मौत पर अस्पताल का दावा

मामला बढ़ा को सीएमओ समेत जिला के तमाम स्वास्थ्यकर्मी महिपाल के घर पहुंचे, महिपाल की मौत की खबर ने हर किसी की सांसें फुला दीं, मामला गंभीर था लिहाजा आनन फानन में तीन डॉक्टरों का एक पैनल बनाकर उसका पोस्टमॉर्टम कराया गया,  हालांकि मामले में पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के बाद पूरी बात साफ हुई, महिपाल की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में मौत की वजह हार्ट अटैक आई है।

Facebook Comments Box