पूर्वी सिंहभूम में बेबस मां जंजीरों से बांध रखती है कलेजे के टुकड़े को…

Share

पूर्वी सिंहभूम के घाटशिला के बेनाशोल पंचायत की दुर्गा बस्ती में एक मां ने अपने बेटे को पिछले 1 महीने से घर के आंगन बांधकर रखा है। पीड़ित मां का कहना है कि  बेटा मानसिक रूप से बीमार है। इसीलिए गांव वालों ने उनके परिवार को उसे बांधकर रखने की सलाह दी थी।

महिला अपने बेटे का इलाज आर्थिक तंगी के वजह से नहीं करा पा रही है। महिला का पति दूसरी शादी कर चुका है और कहीं और रहता है।  पति के जाने के बाद महिला के पास अब ना ही राशन कार्ड है और ना उसे राशन मिलता है। महिला को बेटे की देखरेख करने के लिए घर में ही रहना पड़ता है। महिला मनरेगा मजदूर है और कुछ दिनों से काम पर भी नहीं जा रही है। स्थानीय मुखिया सुक्रुरमुनी हेम्ब्रम और समाजसेवी गौरांग माहली की मदद से युवक को एक सरकारी डॉक्टर के पास दिखाया, लेकिन उसका दिमागी संतुलन और भी ज्यादा खराब हो गया। बीमार युवक सारा दिन मां से खाने के लिए मांगता रहता है। इसलिए मां उसे जंजीरों से बांधकर रखती है। मां की फरियाद है कि उनके बेटे का रांची स्थित अस्पताल में इलाज कराया जाए, लोगों से मदद के लिए गुहार भी लगाई है। इनके परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है।

1 2 3 116
Facebook Comments Box