बिना ISI मार्का वाले हेलमेट बैन, झारखंड के बाजारों मे बाट रहे मौत

Share

धनबाद: पैसा कमाने के लालच में इतना अंधा हो चुका है कि वह लोगों की जिंदगी के साथ भी खिलवाड़ करने से नहीं चूकता, सस्ती क्वालिटी की चीजों को कम दामों में बाजार में खरीद कर ग्राहक भी धनवान बनने की कोशिश करता है परंतु बदले में उसे मौत का सामना करना पड़ता है । धनबाद में सस्ते और बिना क्वालिटी के हेलमेट धड़ल्ले से बिक रहे है। दुकान से लेकर फुटपाथ तक इन हेलमेट की बिक्री की जाती है। बिना आइएसआइ मार्का वाले यह हेलमेट झारखंड में बैन है। बावजूद इसके इनकी बिक्री पर धनबाद में कोई रोक नहीं है। हेड इंजुरी में होती है लोगों की मौत: सड़क दुर्घटना में लोगों की मौत का 90 प्रतिशत कारण हेड इंजुरी होता है।बिना क्वालिटी के हेलमेट इस्तेमाल करने से हे लमेट रहने के बाद भी लोगों की मौत हो जाती है।इसी से बचने के लिए झारखंड में आइएसआइ मार्का वाले हेलमेट पहनना अनिवार्य किया गया है।

पुलिस से बचने के लिए 150 में भी मिलता है हेलमेट: धनबाद में पुलिस से बचने के लिए 150 में भी हेलमेट मिलता है। मगर इस हेलमेट को पहनने से सर की कोई सुरक्षा नहीं होती।हालांकि इसको पहन लेने से पुलिस जुर्माना नहीं लगाती है। गौरतलब हो कि मानक IS4151:2015 के अनुसार निर्मित हेलमेट के अलावा अन्य किसी भी प्रकार के हेलमेट की बिक्री पर प्रतिबंध लगाया गया है। अन्य प्रकार के हेलमेट की बिक्री करने पर प्रशासनिक या कानूनी कार्रवाई होगी। इस मामले में ट्रैफिक डीएसपी राजेश कुमार बताते है कि आइएसआइ मार्का वाले हेलमेट सड़क पर टू-व्हीलर्स राइडर्स की सेफ्टी को बेहतर करने की कोशिश है।नकली हेलमेट की बिक्री को खत्म करना और हल्की क्वालिटी वाले हेलमेट के कारण होनेवाली दुर्घटनाओं को कम करना मकसद है।

1 2 3 157
Facebook Comments Box